कंप्यूटर में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर क्या है?

computer me softwre or hardware kya hai

Computer Me Software or Hardware Kya hota hai नमस्ते दोस्तों आज मैं आपको बहुत ही सरल और आसान भाषा में बताऊंगा की Software किसे कहते है और Hardware किसे कहते है Difference Between Hardware and Software in Hindi साथ ही हम जानेगे हार्डवेयर और सोफ्टवेर में क्या अंतर है?

अगर आपके पास computer तो आपको अपने computer से सम्बंधित बेसिक जानकारी मालूम होनी चाहिए जो कभी भी कही भी काम आ सकती है कई बार ऐसा भी होता है

जिस चीज का हम अधिक उपयोग करते है उसे बारे में हमे मालूम नहीं होता है तो कोई भी हमे पूछ ले तो हमे ताना ही मरेगा ये बात सही भी इसलिए अपने काम आने वाली चीजो के बारे में पता होना चाहिए तो आज के इस आर्टिकल में computer के महत्वपूर्ण भागो के बारे में जानेगे


Hardware और Software किसे कहते है?


दोस्तों एक computer को चलाने के लिए Hardware और Software दोनों जरुरी है इनके बिना हम computer को अच्छे तरीके से काम में नहीं ले सकते है

हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दोनों में रात दिन का अंतर है मगर इक दुसरे के बिना अधूरे है ये सब आपको इस आर्टिकल को पढने के बाद आसानी से पता चल जाएगा


Hardware किसे कहते है 


कंप्यूटर हार्डवेयर फिजिकल कम्पोनेंट्स है जो कंप्यूटर सिस्टम को चलाने का कार्य करते है बिना किसी हार्डवेयर के कंप्यूटर की कल्पना नहीं कर सकते है क्योंकि software को काम करने के लिए hardware की आवश्यकता होती जिसकी सहायता से वो कार्य करता है

computer से सभी device इलेक्ट्रॉनिक होते हैं जिनकी सहायता से computer बनकर तैयार होता है कंप्यूटर में हार्डवेयर के उदाहरण प्रोसेसर, मेमोरी डिवाइस, मॉनिटर, प्रिंटर, कीबोर्ड, माउस और सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट आदि हैं।

दोस्तों हार्डवेयर में मुख्यत वे सब चीजे आती है जिसे हम महसूस कर सकते है देख सकते है या अपने हाथो से छु सकते है सरल भाषा में समझे तो computer के वे सभी भाग या device जिसे हम अपनी आँखों से देख सकते है और हाथो से छु सकते है हार्डवेयर कहलाते है

उदहारण:- Cpu, Mouse, Speaker, Motherbord, आदि ये वे भाग है जिसे हम देख सकते है छु सकते है


software किसे कहते है


सॉफ्टवेयर निर्देशों तथा प्रोग्राम्स का वह समूह है जो कम्प्यूटर को किसी कार्य विशेष को पूरा करने का निर्देश देता हैं. दुसरे तरीके से समझे तो सॉफ्टवेयर एक ऐसा प्रोग्राम है जो computer को किस कार्य को कैसे किस तरह करना के निर्देश देकर प्रक्रिया को सम्पन्न करता है जिसे हम software कहते है

software को ना तो हम देख सकते है ना ही इसे छु सकते है हमे केवल इसे समझ सकते है क्योंकि software का कोई भोतिक रूप नहीं होता है ये अद्रश्य होता है computer में जो प्रोग्राम हम software के द्वारा दिखाई देती है उन्हें भी हम छु नहीं सकते है इसलिए ये सॉफ्टवेयर कहलाते है

Computer में जटिल गणना करने के लिए MS-Excel का उपयोग होता है यदि ये सॉफ्टवेयर कंप्मेंयूटर  मौजूद नहीं होता हो तो हम गणितीय गणनाओं का हल नहीं निकाल सकते है ठीक ऐसे ही Computer में इंटरनेट ब्राउज़र सॉफ़्टवेयर नहीं है, तो भी, आप इंटरनेट पर website का Webpage नहीं खोल सकते है

हम जितने भी प्रोग्राम पर कार्य करते है वे सभी अलग अलग software प्रोग्राम होते है इसलिए सॉफ़्टवेयर कप्यूटर के लिए अनिवार्य है। कुछ Basic सॉफ्टवेयर जो सभी computer में मिलते है उदाहरण- Ms Office, Google Chrome, Photoshop, Video Player आदि हैं ।


relationship between hardware and software in hindi


software और hardware के सम्बन्ध हो हम इस तरह से समझ सकते है की किसी भी सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करने के लिए hardware की जरूरत पड़ती है जैसे window हार्ड डिस्क में इनस्टॉल होती है ये एक हार्डवेयर है यदि हार्ड डिस्क नहीं होतो है तो सॉफ्टवेयर इनस्टॉल नहीं होगा और इनस्टॉल नहीं होगा तो computer चलना तो दूर की बात ये computer बन ही नहीं सकता है तो hardware को एक शरीर मान लीजिये

अब बात आती है सॉफ्टवेयर की यदि सॉफ्टवेयर नहीं होतो हम काम किस पर करेंगे क्योंकि सॉफ्टवेयर की सहायता से computer की स्क्रीन पर चित्र के रूप में प्रोग्राम दिखाई देते है जिन पर हम अपने कार्य करते है तो बिना software के computer बेकार है इसलिए कहा जाता है हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर एक दुसरे के पूरक है


what is the difference between hardware and software In Hindi


दोस्तों अभी तक हमने जिनती जानकारी पढ़ी है उसमे हमने जाना की Hardware और Software किसे कहते है और इससे आपको Hardware और Software के बीच क्या अंतर है ये अच्छे से समझ आ गया होगा

अगर भी आपको कोई उलझन है की Hardware और Software क्या होता है और इसके बीच क्या अंतर तो  इसे समझने के लिए हमने दोनों को अलग अलग टेबल में विभाजित किया है ताकि आपको समझने में आसानी हो

Hardware Software
कप्यूटर के फिजिकल पार्ट्स को हार्डवेयर कहा जाता है।हार्डवेयर की सहायता से सॉफ्टवेयर को कार्य करने के लिए कमांड मिलती है जबकि सॉफ्टवेयर किसी भी कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को  निर्देश देता है की क्या और कैसे करना है।
हार्डवेयर को बदला और ठीक किया किया जाता है।  सॉफ्टवेयर को developed किया जाता है।
सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर कोई कार्य नहीं कर सकता है। बिना हार्डवेयर से सॉफ्टवेयर को चलाया नहीं जा सकता है।
जिन्हें हम अपने हाथो से छु सकते है और देख सकते  हार्डवेयर कहा जाता है।  सॉफ़्टवेयर देख नहीं सकते इन्हें केवल प्रोग्राम के रूप में स्क्रीन पर देख सकते है मगर इन्हें छू नहीं सकते।
हार्डवेयर की चार श्रेणियां हैं: इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस, स्टोरेज और इंटरनल कम्पोनेंट्स। ये कई प्रकार के होते है जैसे:-  सिस्टम सॉफ्टवेयर, प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में विभाजित है।
कंप्यूटर वायरस से हार्डवेयर प्रभावित नहीं होता है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर वायरस से प्रभावित होता है।
यहाँ नेटवर्क के माध्यम से एक जगह से दूसरी जगह स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है। लेकिन सॉफ्टवेयर को नेटवर्क के माध्यम से ट्रांसफर  किया जा सकता है।
 हार्डवेयर क्षतिग्रस्त होता है, तो इसके साथ पर बदल दिया जाता है। यदि सॉफ़्टवेयर क्षतिग्रस्त होता है, तो इसकी बैकअप कॉपी को Reinstall किया जा सकता है।
Ex: Keyboard, Mouse, Monitor, Printer, CPU, Hard disk, RAM, ROM etc. Ex: Ms Word, Excel, Power Point, Photoshop, MySQL etc.

आज के इस पोस्ट में हमने जाना Hardware और Software किसे कहते है और Difference Between Hardware and Software in Hindi की Hardware और Software में क्या अंतर है?

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर सिस्टम को चलाने लिए कितने महत्वपूर्ण होते है क्योंकि हार्डवेयर इलेक्ट्रिक Component है तो सॉफ्टवेयर निर्देशों और डेटा का संग्रह होता है जो हार्डवेयर के जरिये होता है इसे अगर आप प्रक्टिक्कल करेंगे तो आपको समझ आ जायेगा

तो दोस्तों उमीद करता हूँ आपको मेरा आर्टिकल कंप्यूटर में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर क्या है? – what is hardware and software In Hindi जरुर पसंद आया होगा अगर पसंद आये तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें तो मिलते है अगले आर्टिकल में धन्यवाद

ये भी पढ़े 

मेरा नाम अंकित लखेरा है। मैं जोबनेर में रहता हूं। मैंने ग्रेजुएशन की हैं और मुझे digital marketing में 4 साल का experience है। मुझे टेक्नोलॉजी में भी बहुत इंटरेस्ट है। मुझे सीखना और सिखाना बहुत ज्यादा पसंद है। इस ब्लॉग में आपको हिंदी में आर्टिकल मिलेगें ताकि सभी को पोस्ट पढ़ने में आसानी हो। यहां में टेक्नोलॉजी और डिजिटल मार्केटिंग से रिलेटेड पोस्ट करता हूँ इस आर्टिकल पर आने के लिए धन्यवाद

Leave a Comment